खेल / Sports

हैण्डबॉल के नियम (Hand Ball)- खेल का मैदान, महावपूर्ण तथ्य तथा जानकारियाँ

हैण्डबॉल के नियम (Hand Ball)- खेल का मैदान, महावपूर्ण तथ्य तथा जानकारियाँ

इस पोस्ट की PDF को नीचे दिये लिंक्स से download किया जा सकता है। 

यह एक आधुनिक खेल है। इस खेल में दो टीमें होती हैं । प्रत्येक टीम में 12-12 खिलाड़ी होते हैं, जिनमें 10 क्षेत्र खिलाड़ी और दो गोल-रक्षक कहलाते हैं। खेल के दौरान केवल 7 खिलाड़ी ही खेल सकते हैं, शेष खिलाड़ी स्थानापन्न होते हैं।

Contents

हैण्डबॉल का मैदान

हैण्डबॉल का मैदान आयताकार होता है। मैदान की पार्श्व रेखाओं की लम्बई 40 मीटर होती है। गोल रेखाएँ 20 मीटर लम्बी होती हैं। मैदान केन्द्र से, दो गोल-क्षेत्रों में विभाजित होता है। गोल-रेखा के केन्द्र पर दो सीधे डण्डों के रूप में एक छड़ से जुडे, मैदान क्षेत्र के कोनों से समान दूरी पर गोल होते हैं। गोल की चौड़ाई 3 मीटर एवं ऊँचाई 2 मीटर होती है । प्रत्येक गोल-क्षेत्र गोल-रेखा के समतल गोल से 6 मीटर की दूरी पर, 8 मीटर लम्बी रेखा से चिह्नित होता है। गोल रेखा के समतल गोल से 9 मीटर की दूरी पर, 3 मीटर लम्बी एक भंज रेखा चिह्नित की जाती है।

इन सभी रेखाओं की मोटाई 15 सेमी होती है। प्रत्येक अर्द्धक में गोल रेखा के समतत तथा उसके मध्य से 7 मीटर की दूरी पर एक रेखा खींँची जाती है। खेल-क्षेत्र में केन्द्र-रेखा से 4.5 मीटर की दूरी से 2 समतल रेखाएँ भी चिह्नित की जाती हैं, जो 15 सेमी लम्बी होती हैं।

हैण्डबॉल का मैदान

हैण्डबॉल का मैदान

हैण्डबॉल खेल के महत्त्वपूर्ण तथ्य

इस खेल के महत्वपूर्ण तथ्य निम्नलिखित हैं-

(1) इस खेल में गेंद को एक अथवा दोनों हाथों से पकड़कर अपने सहयोगी खिलाड़ी को दिया जाता है और गेंद को गोल-क्षेत्र में डालने का प्रयास किया जाता है।

(2) इस खेल की अवधि पुरुषों के लिए 60 मिनट और महिलाओं के लिए 50 मिनट होती है। आवश्यकता पड़ने पर 10 मिनट का अतिरिक्त समय दिया जा सकता है।

(3) इस खेल में पैरों को छोड़कर शेष शरीर का प्रयोग किया जाता

(4) इस खेल में प्रयुक्त गेंद की परिधि 58 सेमी से 60 सेमी तथा भार 436 ग्राम से 475 ग्राम के मध्य होता है। महिलाओं के लिए गेंद की परिधि 54-56 सेमी तथा भार 385-400 प्राम के बीच होता है

(5) प्रत्येक मैच में दो गेंदें प्रयुक्त की जाती हैं, बिना किसी विशेष कारण के गेंद बदली नहीं जा सकती

(6) इस खेल में गोल-रक्षक अपनी पोशाक बदलकर, क्षेत्र-रक्षक खिलाड़ी बन सकता है। इसी प्रकार क्षेत्र-रक्षक भी गोल-रक्षक के रूप में खेल सकता है।

(7) खेल का संचालन दो अम्पायर करते हैं, जिनका निर्णय सभी खिलाड़ियों को मान्य होता है।

खेल के नियम

इस खेल के प्रमुख नियम निम्नलिखित हैं-

(1) खेल के प्रारम्भ में खेल-क्षेत्र में दोनों टीमों के कम-से-कम 5-5 खिलाड़ी अवश्य होने चाहिए।

(2) यदि किसी समय किसी भी टीम में खिलाड़ियों की संख्या 5 रह जाये तब भी खेल जारी रहेगा।

(3) गेंद को अधिक-से-अधिक 3 सेकण्ड तक पकड़कर रोका जा सकता है।

(4) गेंद को हाथों, बाँहों, सिर, पीठ, जंघा अथवा घुटने की सहायता से किसी भी दिशा में फैंका जा सकता है।

(5) गेंद को पैर अथवा निचली टॉँग से स्पर्श करना ‘फाउल’ माना जाता है।

(6) गेंद को विपक्षी के ऊपर फेंकना भी फाउल है।

(7) यदि विपक्षी फाउल करता है, गेंद को गलत ढंग से फेंका जाता है, खिलाड़ी जानबूझकर समय नष्ट करता है, गोल-क्षेत्र की परिधि-रेखा को छुआ अथवा पार किया जाता है, तो इन सब स्थितियों को ‘फ्री थ्रो” कहा जाता है।

(৪) जब खिलाड़ी जानबूझकर गोल क्षेत्र में घुसता है अथवा जब गोल-रक्षक गेंद को अपने गोल-क्षेत्र में खींच लेता है, तब ‘पेनाल्टी थ्रो’ की स्थिति होती है । इसी प्रकार ‘थरो ऑफ’, ‘थ्रो इन’ एवं ‘कॉर्नर थ्रो’ के नियम हैं।

For Download – Click Here

महत्वपूर्ण लिंक 

Disclaimersarkariguider.com केवल शिक्षा के उद्देश्य और शिक्षा क्षेत्र के लिए बनाई गयी है | हम सिर्फ Internet पर पहले से उपलब्ध Link और Material provide करते है| यदि किसी भी तरह यह कानून का उल्लंघन करता है या कोई समस्या है तो Please हमे Mail करे- sarkariguider@gmail.com

About the author

Kumud Singh

M.A., B.Ed.

Leave a Comment

error: Content is protected !!