मानव संसाधन प्रबंधन / Human Resource Management

प्रशिक्षण की अवधारणा | प्रशिक्षण की परिभाषाएं | प्रशिक्षण की विशेषताएँ

प्रशिक्षण की अवधारणा | प्रशिक्षण की परिभाषाएं | प्रशिक्षण की विशेषताएँ | Concept of Training in Hindi | Definitions of Training in Hindi | Training Features in Hindi

प्रशिक्षण की अवधारणा

(Concept of Training)

संगठन के उद्देश्यों व लक्ष्यों की प्राप्ति का मूलाधार संगठन में कार्यरत लोगों (मानव संसाधन) की क्षमता, योग्यता, कौशल ज्ञान व प्रभावशीलता आदि है। प्रशिक्षण नये व पुराने  व्यक्तियों के गुणों, कौशल, योग्यता, कार्यक्षमता, तकनीकी ज्ञान आदि में वृद्धि का माध्यम है। प्रशिक्षण एक अनिवार्य मानव संसाधन का कार्य है और यह आधुनिक औद्योगिक वातावरण का अभिन्न अंग है, जो संगठन के लक्ष्यों की प्राप्ति, संगठन का विकास और समृद्धि में सहायक है। वास्तव में किसी भी कार्य को उत्तम रीति से करने के लिए विशिष्ट ज्ञान एवं कौशल की आवश्यकता होती है। प्रशिक्षण किसी कर्मचारी को विशिष्ट कार्य करने के योग्य बनाने की प्रक्रिया है। प्रशिक्षण के द्वारा किसी कार्य को करने के कौशल में वृद्धि हो जाती है। प्रशिक्षण कर्मचारियों को कार्य गुणों, कार्यविधियों तथा विशिष्ट कौशल का ज्ञान करवाने की प्रक्रिया है, ताकि उनकी कार्य के प्रति समझ, कार्यक्षमता एवं उत्पादकता में वृद्धि हो सके। प्रशिक्षण एक नियोजित कार्यक्रम (Planned Programme) है, जो मानव संसाधन की क्षमता व कार्यकुशलता को बढ़ाता है जिससे किसी विशिष्ट कार्य के लिए बदलते वातावरण, ज्ञान, कौशल, दृष्टिकोण, सामाजिक व्यवहार आदि को अपनाया जा सके।

प्रशिक्षण एक सीखने की प्रक्रिया (Leaming Process) है और विशेषकर क्रमिक नियोजित व्यवहार (Sequence Programmed Behaviour) को अपनाने कि संगठन में क्या करना चाहिए या क्या नहीं करना चाहिए, अपनी जागृति को विकसित करने, अपने ज्ञान व कौशल में वृद्धि करने की प्रक्रिया है। प्रशिक्षण को परिभाषित करते हुए एडवर्ड बी. फिलिप्पो : (Edward B. Flippo) ने कहा है, “प्रशिक्षण किसी विशेष कार्य को करने हेतु कर्मचारी के ज्ञान एवं कौशल में अभिवृद्धि करने की एक प्रक्रिया है।”

“Training is the act of increasing the knowledge and skills of an employees for doing a particular job.”

प्रशिक्षण की परिभाषाएं :

  1. डेल एस. बीच (Dale S. Beach) ने कहा है, “प्रशिक्षण एक ऐसी संगठित कार्यविधि है, जिसके द्वारा व्यक्ति किसी निश्चित उद्देश्य के लिए ज्ञान तथा कौशल सीखते हैं।”

“Training is the organised procedure by which people learn knowledge and/or skills for a definite purpose.”

  1. आर.सी. डेविस (R.C. Devis) के शब्दों में, “प्रशिक्षण तथ्यों, सिद्धान्तों तथा कार्यविधियों के संगठित समूह के प्रति एक समझ (Understanding) विकसित करने की प्रक्रिया है।”

“Training may be defined as a process of developing an understanding of some organised body of facts, rules and methods.”

उपर्युक्त परिभाषाओं से स्पष्ट है कि प्रशिक्षण एक नियोजित सतत प्रक्रिया है जिसके द्वारा विशिष्ट कार्य के लिए कर्मचारियों की अभिरुचि, चातुर्य एवं योग्यता में अभिवृद्धि की जाती है जिससे बदलते परिवेश में संगठन की कार्यक्षमता एवं प्रभावशीलता बढ़ाई जा सके। प्रशिक्षण संगठन में सकारात्मक परिवर्तन लाने के एक प्रयास के रूप में है।

प्रशिक्षण की विशेषताएँ

(Characteristics of Training)

प्रशिक्षण की उपर्युक्त परिभाषाओं के विश्लेषण के आधार पर उसमें निम्नलिखित विशेषताएँ परिलक्षित होती हैं :

(1) प्रशिक्षण सीखने की प्रक्रिया है।

(2) प्रशिक्षण एक सतत तथा व्यवस्थित (Continuous and Systematic) प्रक्रिया है।

(3) प्रशिक्षण लक्ष्य अभिमुख (Goal Oriented) तथा लक्ष्य निर्देशित (Goal Direted) प्रक्रिया है।

(4) यह मानव संसाधन के विकास से सम्बन्धित है।

(5) यह मानव पूंजी (Human Capital) में उद्देश्यात्मक विनियोग है।

(6) प्रशिक्षण नियोजित विकास की प्रक्रिया है।

(7) प्रशिक्षण कर्मचारियों की कार्यकुशलता, क्षमता, ज्ञान, कौशल आदि में वृद्धि की प्रक्रिया है।

(8) प्रशिक्षण कार्यरूप अभिमुख (Application Oriented) प्रक्रिया है।

(9) प्रशिक्षण परिवर्तन को अपनाने तथा कर्मचारियों में चिन्तन शैली, अभिरुचि एवं व्यवहार में परिवर्तन लाने की प्रक्रिया है।”

मानव संसाधन प्रबंधन  महत्वपूर्ण लिंक

Disclaimer: sarkariguider.com केवल शिक्षा के उद्देश्य और शिक्षा क्षेत्र के लिए बनाई गयी है। हम सिर्फ Internet पर पहले से उपलब्ध Link और Material provide करते है। यदि किसी भी तरह यह कानून का उल्लंघन करता है या कोई समस्या है तो Please हमे Mail करे- sarkariguider@gmail.com

About the author

Kumud Singh

M.A., B.Ed.

Leave a Comment

error: Content is protected !!