शैक्षिक तकनीकी / Educational Technology

शैक्षिक तकनीकी के उद्देश्य | शैक्षिक तकनीकी का महत्व तथा उपयोगिता | Objectives of Educational Technology in Hindi

शैक्षिक तकनीकी के उद्देश्य | शैक्षिक तकनीकी का महत्व तथा उपयोगिता | Objectives of Educational Technology in Hindi

शैक्षिक तकनीकी के उद्देश्य (Objectives of Educational Technology) –

शैक्षिक तकनीकी की अवधारणा शिक्षा के लिये नई हैं। अतः उसके उद्देश्यों का निर्धारण धीरे-धीरे हो रहा है।

  1. शिक्षा व्यवस्था में नूतन विषय-वस्तु का समावेश करना।
  2. शिक्षण-प्रक्रिया में आधारभूत उन्नत प्रविधियों का प्रयोग करना।
  3. छात्रों की वैयक्तिक आवश्यकताओं और अभिरुचियों को पूरा करना ।
  4. शैक्षिक तकनीकी का उद्देश्य समाज एवं जनता को उन नये क्षेत्रों तक पहुँचना है जहाँ परम्परागत शिक्षा संस्थायें अभी तक नहीं पहुँच सकी हैं।
  5. छात्रों के कुछ ऐसे वर्ग हैं जो सांस्कृतिक रूप से बाधित (Handicaps) एवं पिछड़े है। शैक्षिक तकनीकों के उद्देश्य ऐसे छात्रों के लिए शिक्षा के समान अवसर उपलब्ध कराना है।
  6. दूरदर्शन पाठों (T.V. Lessons) एवं स्व-अनुदेशन अभिक्रम सामग्री (Self- Instructional Programmed Material) की सहायता से व्यवसाइयों एवं श्रमिकों को सतत् शिक्षा उपलब्ध कराना।
  7. वैयक्तिक रूप से शिक्षक की योग्यता को समुन्नत करना।
  8. स्व-अध्ययन के अवसरों को उपलब्ध कराना।
  9. अनुदेशन को अत्यधिक उत्प्रेरक बनाना।
  10. शैक्षिक परिस्थितियों को नियन्त्रित करके अनुदेशन को अधिगम का प्रभावशाली साधन बनाना।
  11. अधिगम की परिस्थितियों में वैज्ञानिक प्रक्रिया के प्रयोग को महत्व देना।
  12. शैक्षिक स्तर का गुणात्मक विकास करना।
  13. छात्रों की उपलब्धियों का मूल्यांकन करना।
  14. पुनर्बलन की प्रविधियों का चयन करना।
  15. छात्रों के गुणों, क्षमताओं, कौशलों एवं उपलब्धियों का विश्लेषण करना।
  16. पाठ्यवस्तु का विश्लेषण करना तथा उसे क्रमबद्ध रूप में संगठित एवं व्यवस्थित करना।
  17. छात्रों को सीमित प्रत्युत्तरों की अनुमति देना तथा उन्हें परिमार्जित करना।
  18. निर्धारित उद्देश्यों की प्राप्ति-सीमा जानने के लिए छात्रों की उपलब्धियों का मूल्यांकन करना।
  19. शिक्षण-अधिगम की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए बांछित पुनर्बलन की प्रविधियों का चयन करके प्रयोग करना।
  20. समग्र रूप में शैक्षिक तकनीकी का उद्देश्य है— शिक्षक अधिगम प्रक्रिया को प्रभावी बनाना।

हिलर्ड जैसन (Hillard Jason) के अनुसार शैक्षिक तकनीकी के निम्नांकित उद्देश्य है-

  1. सूचनाओं का प्रेषण करना।
  2. भूमिका विधियों का प्रयोग करना।
  3. विशिष्ट कौशलों को प्राप्त करने में सहयोग देना।
  4. पृष्ठ-पोषण के क्षेत्र में योगदान देना।

मैंकेंजी आदि ने (Mackengie and others) भी इसी प्रकार शैक्षित तकनीकी के उद्देश्यों का उल्लेख किया-

  1. सूचनाओं को अधिकाधिक छात्रों तक पहुंचाना।
  2. उन्नत अधिगम सामग्री छात्रों को देना।
  3. छात्रों को स्वतन्त्र रूप से अधिकाधिक सीखने के अच्छे अवसर देना।
  4. छात्रों का सीमित प्रत्युत्तरों की अनुमति देना और सुधार करना।

डॉ. शर्मा के अनुसार शैक्षिक तकनीकी के उद्देश्य

  1. शिक्षण के उद्देश्यों का प्रतिपादन किया।
  2. छात्रों के गुण और उनकी क्षमताओं, निष्पतियों तथा कौशलों का विश्लेषण करना।
  3. पाठ्य-वस्तु की क्रमबद्ध व्यवस्था करना ।
  4. उपयुक्त शिक्षण विधियों, व्यूह रचनाओं, युक्तियों, शिक्षण सहायक सामग्री आदि की सहायता से पाठ्य-वस्तु का प्रस्तुतीकरण करना।
  5. निर्धारित उद्देश्यों की प्राप्ति सीमा जानने के लिए छात्रों की उपलब्धियों का मूल्यांकन करना।
  6. शिक्षण प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए वांछित पुनर्बलन की प्रविधियों का चुनाव करके उनका प्रयोग करना।
शैक्षिक तकनीकी – महत्वपूर्ण लिंक

Disclaimer: sarkariguider.com केवल शिक्षा के उद्देश्य और शिक्षा क्षेत्र के लिए बनाई गयी है। हम सिर्फ Internet पर पहले से उपलब्ध Link और Material provide करते है। यदि किसी भी तरह यह कानून का उल्लंघन करता है या कोई समस्या है तो Please हमे Mail करे- sarkariguider@gmail.com

About the author

Kumud Singh

M.A., B.Ed.

Leave a Comment

error: Content is protected !!