शिक्षाशास्त्र / Education

व्यक्तित्व क्या है | व्यक्तित्व का अर्थ | व्यक्तित्व की परिभाषा | व्यक्तित्व के प्रकार

व्यक्तित्व क्या है | व्यक्तित्व का अर्थ | व्यक्तित्व की परिभाषा | व्यक्तित्व के प्रकार | What is personality in Hindi | Meaning of personality in Hindi | Definition of personality in Hindi | Personality type in Hindi

व्यक्तित्व क्या है भूमिका-

साधारण भाषा में जिसे व्यक्तित्व कहा जाता है, मनोविज्ञान उसे स्वीकार नहीं करता है। साधारणतया शारीरिक बनावट तथा आकर्षक को ही व्यक्तित्व मान लिया जाता है। परन्तु व्यक्तित्व क्या है? मनोविज्ञान भी व्यक्तित्व के अर्थ की व्याख्या अनेक प्रकार से करता है।

अर्थ

‘व्यक्तित्व’ शब्द का अंग्रेजी रूपान्तर Personality है। अंग्रेजी के Personlaly शब्द की उत्पत्ति Persona शब्द से हुई मानी जाती है। इस शब्द का अर्थ होता है–‘नकाब’ (Mask)। यूनान निवासी नकाब पहनकर अभिनय किया करते थे जिससे दर्शकगण यह न जान सकें कि कौन व्यक्ति अभिनय कर रहा है।

‘Personality’ शब्द का उद्गम लैटिन भाषा के Personare शब्द से भी माना जाता है Personare का अर्थ होता था-ध्वनि करने के सदृश्य (To Sound Through) | Personare शब्द उस व्यक्ति की आवाज को व्यक्त करता था जो भेष बदले हुए होता था। Persona शब्द किसी व्यक्ति के कार्यों को स्पष्ट करने के लिए भी प्रयोग किया जाता था।

व्यक्तित्व की परिभाषा

व्यक्तित्व सम्बन्धी जिन धारणाओं का ऊपर उल्लेख किया गया है, वे व्यक्तित्व के अर्थ को पूर्णतया स्पष्ट नहीं करतीं। अतः व्यक्तित्व की परिभाषा पर प्रकाश डालना आवश्यक है। विभिन्न विद्वानों ने परिभाषा अपने-अपने ढंग से की है। इन विद्वानों के विचारों को स्पष्ट करके ही व्याख्या की जा सकती है।

कुछ परिभाषाएँ इस प्रकार हैं-

(1) ड्रेवर – “व्यक्तित्व शब्द का प्रयोग व्यक्ति के शारीरिक, मानसिक, नैतिक और सामजिक गुणों के सुसंगठित तथा गत्यात्मक संगठन के लिए किया जाता है जिसे वह अन्य व्यक्तियों के साथ अपने सामाजिक जीवन के आदान प्रदान में प्रकट करता है।”

(2) ऑलपोर्ट – “व्यक्तित्व एक क्रियाशील संगठन है जो व्यक्ति के मनो-शारीरिक ढंगों को निश्चित करता है जिन्हें वह बाह्य परिवेश में अपने आपको समायोजित करने में अपूर्व रूप से अपनाता है।”

व्यक्तित्व के प्रकार

विभिन्न विद्वानों ने अपने-अपने ढंग से व्यक्तित्व का वर्गीकरण किया है। निम्नलिखित पंक्तियों में कुछ मनोवैज्ञानिकों द्वारा किये गये वर्गीकरण पर प्रकाश डाला जा रहा है-

  1. यंग (Yung) द्वारा किया गया वर्गीकरण (Classification by Yung )

यंग ने वर्गीकरण निम्नलिखित प्रकार से किया है-

(अ) बर्हिमुखी (Extrovert)- बर्हिमुखी व्यक्ति सामाजिक होता है। उसकी सामाजिक कायों में विशेष रुचि रहती है।

(ब) अन्तर्मुखी (Introvert)– अन्तर्मुखी व्यक्ति आत्मकेन्द्रित होता है। वह एकान्तप्रिय होता है, वह दूसरों के समक्ष कम बोलता है।

  1. क्रेचलर द्वारा किया गया वर्गीकरण (Classification by Kretschmer)

क्रेन्नमर ने निम्नलिखित 4 प्रकार के बताये हैं-

(i) मिलनसार (Pyknic),

(ii) एकान्तप्रिय (Leptosome),

(iii) खिलाड़ी (Athletic),

(iv) असाधारण (Dysplastic)।

  1. स्प्रेगर द्वारा किया गया वर्गीकरण (Classification of Spranger)

स्प्रेंगर ने निम्नलिखित 6 प्रकार के बताये हैं-

(i) वैचारिक, (ii) आर्थिक, (iii) सौन्दर्यात्मक, (iv) राजनीतिक, (v) धार्मिक और (vi) सामाजिक।

शिक्षाशास्त्र महत्वपूर्ण लिंक

Disclaimer: sarkariguider.com केवल शिक्षा के उद्देश्य और शिक्षा क्षेत्र के लिए बनाई गयी है। हम सिर्फ Internet पर पहले से उपलब्ध Link और Material provide करते है। यदि किसी भी तरह यह कानून का उल्लंघन करता है या कोई समस्या है तो Please हमे Mail करे- sarkariguider@gmail.com

About the author

Kumud Singh

M.A., B.Ed.

Leave a Comment

error: Content is protected !!